Tuesday, 13 May 2014

हरा समुंदर गोपी चंदर

आज कुछ बच्चे गलियारे में खेल रहे थे...

हरा समुंदर गोपी चंदर...
बोल मेरी मछली कितना पानी.?

एक बच्चा (सीने पर हाथ रखकर)- इतना पानी.!

(फिर सभी बच्चे डुबकी लगाकर उठने की अवस्था में)
हरा समुंदर गोपी चंदर...
बोल मेरी मछली कितना पानी.?


एक बच्चा (गले पर हाथ रखकर)- इतना पानी.!

(फिर सभी बच्चे डुबकी लगाकर उठने की अवस्था में)
हरा समुंदर गोपी चंदर...
बोल मेरी मछली कितना पानी.?

एक बच्चा (नाक पर हाथ रखकर)- इतना पानी.!

तभी मैं उनके बीच पहुँच गया और एक कड़ी जोड़ते हुए मैंने कहा-
बच्चों, खेल के आखिर में बोलना-
"पानी हुआ, नाक के पार...
अबकी बार मोदी सरकार."


'मोदी सरकार' सुनकर सभी बच्चे हंसते-
मुस्कुराते हुए खुश हुए
और
मेरे कहे शब्दों को जोड़कर 'हरा समुंदर गोपी चंदर' खेल का आनंद उठाते रहे.!



No comments:

Post a Comment